जिला परिषद की त्रैमासिक बैठक आयोजित

ज़िला परिषद सोलन के अध्यक्ष रमेश ठाकुर ने कहा कि अधिकारी कार्यों को समयबद्ध पूरा करना सुनिश्चित करें ताकि इनका लाभ आम नागरिक तक पहुंच सके। रमेश ठाकुर आज यहां जिला परिषद की त्रैमासिक बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने ज़िला परिषद के सदस्यों एवं विभिन्न विभागों के अधिकारियो एवं कर्मचारियों से आग्रह किया कि कार्यों को शीघ्र पूर्ण करने के लिए आपसी समन्वय स्थापित कर कार्य करें ताकि लम्बित पड़े कार्यों को शीघ्र पूर्ण किया जा सके। उन्होंने कहा कि जिला के सभी खण्ड विकास अधिकारी जिला परिषद सदस्यों को सम्बन्धित विकास खण्डों में किए जाने वाले कार्यों की जानकारी उपलब्ध करवाएं तथा प्रत्येक माह बैठक कर विभिन्न मदों पर विस्तृत चर्चा कर समाधान निकाले। जिला परिषद अध्यक्ष ने कहा कि चुने हुए जनप्रतिनिधि विभिन्न समस्याओं को सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों के साथ सीधा संवाद स्थापित कर शीघ्र सुलझा सकते हैं। उन्होंने कहा कि निर्वाचित प्रतिनिधियों का यह प्रयास रहता है कि अधिकारियों एवं कर्मचारियों के सकारात्मक सहयोग से जनता की समस्याओं का शीघ्र निवारण किया जा सके। रमेश ठाकुर ने कहा कि ज़िला परिषद ज़िला का सबसे बड़ा सदन है जिसमें जिला परिषद सदस्यों द्वारा उठाए गए मदों का सभी विभागों के अधिकारियों की उपस्थिति में शीघ्र निवारण सुनिश्चित किया जाता हैं।

बैठक में 43 पुराने मद, 12 नए मदों पर चर्चा की गई। मदों में अधिकतम मद पेयजल, सड़क, रास्ते तथा भवन निर्माण सहित अन्य समस्याएं शामिल रही। अतिरिक्त उपायुक्त ज़फ़र इकबाल ने आश्वासन दिलाया कि ज़िला प्रशासन चुने हुए प्रतिनिधियों के समन्वय स्थापित कर, जन समस्याओं के निवारण के लिए प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि जनहित के मामलों पर शीघ्रता से कार्यवाही आमजन का अधिकार है तथा सभी अधिकारियों को इस दिशा में गम्भीर प्रयास करने चाहिएं। उन्होने अधिकारियों से आग्रह किया कि विकासात्मक कार्याेें में गुणवत्ता के साथ-साथ गतिशीलता लाएं। जिला पंचायत अधिकारी रमेश मिन्हास ने बैठक की कार्यवाही का संचालन किया। बैठक में जिला परिषद सोलन के सदस्यगण, मुख्य चिकित्सा अधिकारी सोलन डाॅ. राजन उप्पल, सचिव ए.पी.एम.सी रविन्द्र शर्मा, खण्ड विकास अधिकारी तथा विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

   

Vishal Verma

20 वर्षों के अनुभव के बाद एक सपना अपना नाम अपना काम । कभी पीटीसी चैनल से शुरू किया काम, मोबाईल से text message के जरिये खबर भेजना उसके बाद प्रिंट मीडिया में काम करना। कभी उतार-चड़ाव के दौर फिर खबरें अभी तक तो कभी सूर्या चैनल के साथ काम करना। अभी भी उसके लिए काम करना लेकिन अपने साथियों के साथ third eye today की शुरुआत जिसमें जो सही लगे वो लिखना कोई दवाब नहीं जो सही वो दर्शकों तक