चुनाव में जिला कीअंतरराज्यीय सीमाओं पर रहेगी कड़ी चौकसी- उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी

विधानसभा चुनाव 2022  के दृष्टिगत जिले में बेहतर कार्य व्यवस्था सुनिश्चित बनाने के लिए उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डीसी राणा की अध्यक्षता में आज  विद्युत विश्राम गृह डलहौजी में अंतरराज्यीय सीमा  बैठक का आयोजन किया गया । बैठक में उपायुक्त पठानकोट हरवीर  सिंह, उपायुक्त कठुआ राहुल पांडे, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कठुआ आरसी कटवाल, पुलिस अधीक्षक चंबा अभिषेक यादव, पुलिस   अधीक्षक भद्रवाह मीर आफताब, उप पुलिस अधीक्षक पठानकोट राजेंद्र मिन्हास विशेष तौर पर मौजूद रहे । इस दौरान चुनाव को प्रभावित करने वाली गतिविधियों पर प्रभावी नियंत्रण और मतदान प्रक्रिया को शांतिपूर्ण, निष्पक्ष एवं भयमुक्त वातावरण में कराने पर विस्तृत चर्चा की गई। बैठक के दौरान   जिला की अंतरराज्यीय  सीमाओं पर चेकपोस्ट  , चौकसी एवं निगरानी व्यवस्था पर विचार विमर्श करने के साथ संयुक्त पेट्रोलिंग टीम के गठन का निर्णय भी लिया गया । आदर्श आचार संहिता के प्रभावी कार्यान्वयन , कानून एवं व्यवस्था सहित उपद्रवी एवं अपराध प्रवृत्ति के  असामाजिक  तत्वों के खिलाफ कड़ी निगरानी  से संबंधित मामलों पर भी विस्तृत चर्चा की गई । इस अवसर पर पठानकोट ,किश्तवाड़,  भद्रवाह, कठुआ एवं जिला चंबा के आबकारी एवं कराधान विभाग के  अधिकारियों सहित एसडीएम डलहौजी जगन ठाकुर, सलूणी स्वाति गुप्ता ,भरमौर् असीम सूद, पांगी रजनीश कुमार ,  

              

भट्टीयात सुनील कैंथ  व तहसीलदार निर्वाचन प्रताप सिंह मौजूद रहे । इसके बाद विधानसभा चुनाव के दौरान आपदा प्रबंधन को लेकर भी उपायुक्त डीसी राणा की अध्यक्षता में जिला के अधिकारियों के साथ बैठक का आयोजन भी किया गया ।  इस दौरान भारतीय वायु सेना के एडमिन कमांडेंट अजय नौटियाल , अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक चंबा विनोद कुमार ,अधीक्षण अभियंता लोक निर्माण  दिवाकर पठानिया   एनडीआरएफ ,एसडीआरएफ के  अधिकारियों ने ऑनलाइन  माध्यम से कार्य योजना पर विस्तृत चर्चा की । उपायुक्त ने चुनाव प्रक्रिया के दौरान आपदा प्रबंधन  की प्रभावी व्यवस्था को सुनिश्चित बनाने के निर्देश भी जारी किए। उन्होंने विभिन्न विभागों के अधिकारियों से जल्द कार्य योजना तैयार करने को भी कहा । 

Vishal Verma

20 वर्षों के अनुभव के बाद एक सपना अपना नाम अपना काम । कभी पीटीसी चैनल से शुरू किया काम, मोबाईल से text message के जरिये खबर भेजना उसके बाद प्रिंट मीडिया में काम करना। कभी उतार-चड़ाव के दौर फिर खबरें अभी तक तो कभी सूर्या चैनल के साथ काम करना। अभी भी उसके लिए काम करना लेकिन अपने साथियों के साथ third eye today की शुरुआत जिसमें जो सही लगे वो लिखना कोई दवाब नहीं जो सही वो दर्शकों तक