कुवैत के दिवंगत शेख सबाह अल अहमद के सम्मान में 4 अक्टूबर को राजकीय शोक, देशभर में झुकाया जाएगा राष्ट्रीय ध्वज

कुवैत के प्रशासक शेख सबा-अल-अहमद,अल जाबेर-अल-सबा के निधन पर गृह मंत्रालय ने 4 अक्टूबर को देश में एक दिन के राष्ट्रीय शोक का ऐलान किया है। शोक के दौरान सभी सरकारी इमारतों पर राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा। गृह मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक, ‘दिवंगत गणमान्य शख्स के सम्मान में भारत सरकार ने फैसला किया है कि चार अक्टूबर 2020 को पूरे भारत में एक दिन का राजकीय शोक मनाया जाएगा।’ बयान के मुताबिक, इस दिन सभी सरकारी इमारतों पर राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका दिया जाएगा और कोई सरकारी मनोरंजन कार्यक्रम नहीं होगा। बता दें कि कुवैत के वर्तमान शासक शेख सबाह अल अहमद अल सबाह का मंगलवार को 91 साल की आयु में निधन हो गया। जुलाई से कुवैती शेख का इलाज अमेरिका के एक अस्पताल में चल रहा था। 1990 के खाड़ी युद्ध के बाद से शेख सबाह अमेरिका के करीबी नेता थे। उनके निधन के बाद देश की अस्थाई शक्तियां उनके छोटे भाई शेख नवाफ अल अहमद अल सबा को दी गई हैं।

पीएम मोदी ने जताया दुख, बोले- भारत ने करीबी दोस्त खोया
शेख सबाह के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दुख जताया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि आज कुवैत और अरब दुनिया ने एक प्रिय नेता, भारत ने एक करीबी दोस्त और दुनिया ने एक महान राजनेता खो दिया है। उन्होंने भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने में अग्रणी भूमिका निभाई और कुवैत में हमेशा भारतीय समुदाय का विशेष ध्यान रखा। पीएम मोदी ने दूसरे ट्वीट में लिखा कि कुवैत राज्य के अमीर शासक शेख सबा अल-अहमद अल-जबर अल-सबा के निधन पर मेरी हार्दिक संवेदना। दु: ख की इस घड़ी में हमारी संवेदना अल-सबा परिवार और कुवैत राज्य के लोगों के साथ हैं।

2019 से थे बीमार
शाही परिवार के प्रभारी मंत्री शेख अली जर्राह अल-सबाह ने शेख सबाह अल अहमद अल सबाह के निधन की पुष्टि की है। बताया जा रहा है कि 2019 में उनकी तबीयत अचानक खराब हो गई थी जिसके बाद उनका इलाज कुवैत के ही एक अस्पताल में चल रहा था। सर्जरी के लिए जुलाई में उन्हें अमेरिकी एयरफोर्स के सी-17 ग्लोबमास्टर के जरिए मिनेसोटा के मेयो क्लिनिक में भर्ती करवाया गया था।

कुवैत के विदेश नीति के थे वास्तुकार
1929 में जन्मे शेख सबा को आधुनिक कुवैत की विदेश नीति के वास्तुकार के रूप में जाना जाता है। प्रधानमंत्री बनने से पहले उन्होंने 1963 से 2003 के बीच लगभग 40 वर्षों तक विदेश मंत्री के रूप में कार्य किया था। शेख जाबेर अल-सबा की मृत्यु के बाद जनवरी 2006 में वे कुवैत के अमीर बने थे।

शेख के सौतेले भाई बने शासक
शेख सबाह के निधन के बाद उनके सौतेले भाई क्राउन प्रिंस नवाफ अल-अहमद अल-सबाह को ई, देश के संवैधानिक कानून के अनुसार नया शासक नियुक्त किया गया है। उनकी उम्र भी 83 साल के आसपास है। प्रिंस नवाफ कुवैत के बड़े राजनेता हैं। उन्होंने दशकों तक रक्षा और आंतरिक विभागों सहित खई उच्च पदों को संभाला है।

शेख सबाह ने पड़ोसी देशों के साथ सुधारे थे रिश्ते
शेख सबाह ने कतर और अन्य अरब देशों के बीच विवाद के कूटनीतिक हल के लिए भी कोशिशें कीं और यह प्रयास आज की तारीख तक जारी रहे। वह 2006 में कुवैत के अमीर बने थे। इससे पहले कुवैत की संसद ने उनके पूर्ववर्ती अमीर शेख साद अल अब्दुल्लाह अल सबाह को नौ दिन के शासन के बाद ही बीमारी की वजह से तख्त से हटा दिया था। इराकी फौजें 1990 में कुवैत में घुस आई थीं। इसके बाद अमेरिकी नीत जंग में इराकी सेना को खदेड़ दिया गया था। इसके बाद से ही कुवैत अमेरिका का घनिष्ठ सहयोगी है।

 

Vishal Verma

We’ve built a community of people enthused by positive news, eager to participate with each other, and dedicated to the enrichment and inspiration of all. We are creating a shift in the public’s paradigm of what news should be.